नागरिकता संशोधन कानून, 2019

नागरिकता संशोधन बिल नागरिकता अधिनियम 1955 के प्रावधानों को बदलने के लिए पेश किया जा गया है, जिससे नागरिकता प्रदान करने से संबंधित नियमों में बदलाव होगा। नागरिकता बिल में इस संशोधन से बांग्लादेश, पाकिस्तान और अफगानिस्तान से आए हिंदुओं के साथ ही सिख, बौद्ध, जैन, पारसी और ईसाइयों के लिए बगैर वैध दस्तावेजों के भी भारतीय नागरिकता हासिल करने का रास्ता साफ हो जाएगा।

Plugin Install : Subscribe Push Notification need OneSignal plugin to be installed.
Supreme Court of India

शाहीन बाग: बच्चे की मृत्यु पर भड़के न्यायाधीश, चार महीने का बच्‍चा प्रदर्शन में जाएगा क्‍या?

नागरिकता संशोधन कानून और भारतीय राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) को लेकर दिल्ली के शाहीन बाग में हो रहे प्रदर्शन के...

Supreme Court of India

शाहीन बाग पर सर्वोच्च न्यायालय ने कहा कि प्रदर्शनकारी सड़क अवरुद्ध नहीं कर सकते

नागरिकता संशोधन कानून के विरुद्ध शाहीन बाग में पिछले करीब दो महीने से चल रहे विरोध-प्रदर्शन के कारण बंद रास्ता...

मोतिहारी: CAA का विरोध कर रहे प्रदर्शनकारियों ने सरस्वती पूजा के मूर्ति विसर्जन जुलुस पर किया हमला, जवाबी लड़ाई में कई घायल

पूर्वी चंपारण - मोतिहारी शहर के प्रधान पथ में मूर्ति विसर्जन के समय रविवार की देर सायं कुछ अराजक तत्वों...

शरजील इमाम

शरजील इमाम ने मस्जिदों में बंटवाये गुमराह करनेवाले पर्चे: दिल्ली पुलिस

नई दिल्ली - नागरिकता संशोधन कानून विरोधी प्रदर्शनकारी शरजील इमाम के बिहार के जहानाबाद स्थित घर और दिल्ली के वसंत...

President Ramnath Kovind

संसद ने नागरिकता संशोधन कानून बनाकर गांधीजी की इच्छा को पूरा किया: राष्ट्रपति

बजट सत्र आज से आरम्न्भ हो गया। सबसे पहले राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने संसद के संयुक्त अधिवेशन को संबोधित किया।...

जामिया: 18 सेकेंड तक तमंचा लहराता रहा हमलावर, सुरक्षा प्रबंध को लेकर दिल्ली पुलिस पर उठे प्रश्न

नई दिल्ली - नागरिकता संशोधन कानून और राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर के विरोध में जामिया से राजघाट तक मार्च के समय...

Page 1 of 10 1 2 10

Recommended

Login to your account below

Fill the forms bellow to register

Retrieve your password

Please enter your username or email address to reset your password.